You are currently viewing Surat Diamond Bourse: दुनिया का सबसे बड़ा डायमंड एक्सचेंज, 65000 लोगों को नौकरी देगा ये एक्सचेंज

Surat Diamond Bourse: दुनिया का सबसे बड़ा डायमंड एक्सचेंज, 65000 लोगों को नौकरी देगा ये एक्सचेंज

Surat Diamond Bourse: दुनिया के सबसे बड़ा डायमंड एक्सचेंज, जो कि अमेरिका के डायमंड एक्सचेंज से भी बड़ा है, वह अब अमेरिका में नहीं बल्कि भारत के सूरत में है। इस डायमंड एक्सचेंज को बनाने में 3400 करोड रुपए का खर्च आया है। 

सूरत डायमंड बोर्स का उद्घाटन

सूरत हीरो के कारोबार के लिए मशहूर जगह माना जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के उद्घाटन समारोह के बाद सूरत अब भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया का सबसे बड़ा डायमंड बॉर्स बन चुका है। डायमंड बिजनेस का हब सूरत, अब काफी एडवांस तरीके से डायमंड के विक्रेता को निश्चित किया जाएगा। प्रधानमंत्री जी के इनॉगरेशन के पद पश्चात अमेरिका के पेंटागन वाले डायमंड एक्सचेंज को पीछे छोड़कर अब यह दुनिया का सबसे बड़ा डायमंड एक्सचेंज बन चुका है। यहां 4500 नेटवर्क ऑफिस होंगे, जिसमें 65000 प्रोफेशनल काम करेंगे। 

3400 करोड़ रुपए की लागत 

दुनिया के सबसे बड़े डायमंड एक्सचेंज को 3400 करोड रुपए की लागत से बनाया गया है। यह 35.54 एकड़ में बना हुआ है। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सूरत एयरपोर्ट का वर्ल्ड क्लास इंटीग्रेटेड टर्मिनल भी देश को समर्पित कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सभी को संबोधित करते हुए सूरत को एक साथ कई सौगात दी हैं।

डायमंड एक्सचेंज बिल्डिंग डायमंड रिसर्च एंड मार्केटिंग सिटी का हिस्सा है, प्रधानमंत्री मोदी ने सूरत में दुनिया के सबसे बड़े डायमंड एक्सचेंज के साथ एयरपोर्ट का भी उद्घाटन किया। विशेष जानकारी के लिए आपको बता दे की सूरत एयरपोर्ट आधुनिक रूप से काफी एडवांस है। 

प्रधानमंत्री ने किया एयरपोर्ट का उद्घाटन

सूरत एयरपोर्ट काफी एडवांस हैं। हालांकि एयरपोर्ट को बनाने के पीछे का मुख्य उद्देश्य हीरो के इस शहर को पूरे दुनिया में सबसे बड़ा डायमंड हब बनाना है। जिस कारण इसका उद्घाटन किया गया और यह डायमंड बॉर्स हीरे आभूषण इत्यादि में दुनिया का सबसे बड़ा केंद्र होगा।  इसका मुख्य उद्देश्य देश-विदेश में हीरो का व्यापार को बढ़ावा देना है, जिसके माध्यम से कच्चे और पॉलिश्ड हीरो के ग्लोबल सेंटर को विकसित किया जाएगा। डायमंड एक्सचेंज में खुदरा ज्वैलरी बिजनेस के साथ-साथ आभूषण एवं हीरे अंतर्राष्ट्रीय बैंकिंग और सॉफ्ट की भी सुविधा दी गई है। 

सूरत एयरपोर्ट टर्मिनल की खास बातें 

भारत के सबसे एडवांस एयरपोर्ट में से एक सूरत एयरपोर्ट का उद्घाटन भी किया गया। सबसे एडवांस तकनीक से लैस यह एविएशन दुनिया के अद्भुत टर्मिनल में शुमार होगा। इसका डिजाइन शहर के प्रवेश द्वार के रूप में किया गया है। जिसका मुख्य उद्देश्य विदेशी व्यापारों को बढ़ावा देना होगा।

प्रवेश करते के साथ ही भारतीय संस्कृति और भारत के विरासत की झलक दिखाई देती है। हालांकि मुख्यतः स्थानीय संस्कृति और विरासत भी देखने को मिलती है। एयरपोर्ट की बिल्डिंग की बात करें तो पुराने घरों की समृद्ध और पारंपरिक की कास्ट शैली का प्रभाव भी देखने को मिलता है। एडवांस सिस्टम सोलर और सीवेज सिस्टम से भी लैस किया गया है और यह गर्मी से बचने के लिए क्लींजिंग यूनिट का भी इस्तेमाल किया गया है। 

पीएम मोदी ने किया संबोधित 

उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने लोगों का संबोधन किया। सूरत डायमंड एक्सचेंज के उद्घाटन के बाद पीएम मोदी जी ने कहा आज दुनिया की हरी इमारत की चमक सूरत की इस बिल्डिंग के आगे फीकी पड़ चुकी है। हमारे डिजाइनर भाइयों और कार्य में शामिल लोगों ने मेहनत से पांच तत्वों की कल्पना के हिसाब से इसका निर्माण करवाया है।

आज सूरत को दो उपहार मिले हैं जिनमें से एक सूरत डायमंड एक्सचेंज और दूसरा सूरत इंटरनेशनल एयरपोर्ट है। इसी के साथ-साथ सूरत वालों की 30 साल पुरानी डिमांड पूरी हो गई है। कहकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को संबोधन किया। 

30 साल पुरानी मांग हुई पुरी

सूरत के लोगों का 30 साल पुराना मांग था कि सूरत एयरपोर्ट को इंटरनेशनल एयरपोर्ट का दर्जा मिलना चाहिए। आज सूरत डायमंड एक्सचेंज के उद्घाटन के पश्चात एयरपोर्ट को इंटरनेशनल दर्जा मिल चुका है। अब दुबई की फ्लाइट आज से शुरू हो गई है। जल्द ही हांगकांग की फ्लाइट रवाना होगा और इसी के साथ-साथ गुजरात में इसके साथ तीन इंटरनेशनल एयरपोर्ट हो गए हैं। 

Leave a Reply