You are currently viewing Inshorts Success Story: 60 शब्दों में समाचार पढ़ाने वाले ऐप Inshorts की सफलता की कहानी!

Inshorts Success Story: 60 शब्दों में समाचार पढ़ाने वाले ऐप Inshorts की सफलता की कहानी!

Inshorts Success Story: इन दिनों, स्टार्टअप्स के क्षेत्र में हमारा देश बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है। यही कारण है कि आज हमारे देश में 100 से अधिक यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स बन चुके हैं। इन सफल स्टार्टअप्स में से एक है Inshorts, जो 60 शब्दों में समाचार देने वाली कंपनी है। इस कंपनी के फाउंडर हैं Azhar Iqubal, जिन्होंने IIT दिल्ली से पढ़ाई छोड़कर इस कंपनी की स्थापना की। 

Inshorts Success Story

Inshorts एक ऐसा प्लेटफॉर्म है, जो दुनिया भर की खबरों को सिर्फ 60 शब्दों में प्रस्तुत करता है। यह लोगों के लिए खबरें पढ़ना बहुत आसान बना देता है। Inshorts की सफलता ने यह साबित कर दिया है कि आज के समय में भी, अगर हम अपने विचारों को सही तरीके से पेश करें तो हम सफल हो सकते हैं। आज Inshorts की वैल्यू 3700 करोड़ से अधिक है।

तो फिर, आज के इस लेख में हम Inshorts Success Story के बारे में पढ़ेंगे और जानेंगे कि कैसे Azhar Iqubal ने फेसबुक की मदद से इतनी बड़ी कंपनी बना डाली है।

Inshorts Success Story Overview

कंपनी का नामInshorts Medialab Private Limited
संस्थापकअजहर इकबाल, दीपिट पुरकायस्थ, अनुनय अरुणव
स्थापना2013
मुख्यालयदिल्ली, भारत
क्षेत्रमीडिया
उत्पादInshorts ऐप और वेबसाइट
फंडिंग$119 मिलियन से अधिक
वैल्यूएशन₹3700 करोड़ से अधिक ($18.9 मिलियन)
उपयोगकर्ता आधार50 मिलियन+ मासिक सक्रिय उपयोगकर्ता
Official Websitehttps://inshorts.com/

Inshorts का फाउंडर कौन हैं: Inshorts Success Story

Inshorts Success Story Founders

Inshorts के तीन फाउंडर हैं: Azhar Iqubal, Deepit Purkayastha और Anunay Arunav और इन तीनों दोस्तों ने मिलकर 2013 में Inshorts की स्थापना की।

  1. अजहर इकबाल

अजहर इकबाल Inshorts के सीईओ और सह-संस्थापक हैं। वे IIT दिल्ली से कंप्यूटर साइंस में स्नातक हैं। उन्हें हमेशा से समाचारों में रुचि रही है, लेकिन उन्हें यह भी महसूस हुआ कि समाचार अक्सर बहुत लंबे होते हैं और उन्हें पढ़ने में बहुत समय लगता है। इसलिए, उन्होंने 60 शब्दों में समाचार देने का विचार किया।

  1. दीपित पुरकायस्थ

दीपित पुरकायस्थ Inshorts के सीटीओ और सह-संस्थापक हैं। वे IIT दिल्ली से कंप्यूटर साइंस में स्नातक हैं। उन्हें हमेशा से तकनीक में रुचि रही है, और उन्हें यह विश्वास था कि मोबाइल इंटरनेट के आगमन के साथ, संक्षिप्त समाचार लोकप्रिय होंगे।

  1. अनुनय अरुणव

अनुनय अरुणव Inshorts के सीओओ और सह-संस्थापक हैं। वे IIT दिल्ली से कंप्यूटर साइंस में स्नातक हैं। उन्हें हमेशा से व्यवसाय में रुचि रही है, और उन्हें यह विश्वास था कि Inshorts एक सफल व्यवसाय बन सकता है।

Inshorts Success Story कैसे शुरू हुई?

2013 में भारत के डिजिटल परिदृश्य पर, तीन युवा दिमागों ने एक ऐसा बीज बोया जो आगे चलकर एक मीडिया एम्पायर बनने वाला था। ये थे अजहर इकबाल, दीपिट पुरकायस्थ और अनुनय अरुणव, तीन IIT दिल्ली के छात्र। उन दिनों मोबाइल इंटरनेट तेजी से बढ़ रहा था, पर खबरें अभी भी उसी पुराने, लंबे-चौड़े अंदाज में पेश की जा रही थीं। यहीं से इन तीन दोस्तों को एक समस्या दिखी और उसे हल करने का एक बेहद संक्षिप्त लेकिन क्रांतिकारी विचार पनपा।

Inshorts Success Story

उन्हें महसूस हुआ कि लोग अब समय की कीमत समझते हैं, और लंबी-चौड़ी खबरें उनके व्यस्त जीवन में फिट नहीं बैठतीं। इसी ज़रूरत को पूरा करने के लिए उन्होंने “Inshorts” की कल्पना की – एक ऐसा प्लेटफॉर्म जहाँ खबरें सिर्फ 60 शब्दों में, सटीक और प्रासंगिक ढंग से पेश की जातीं।

उन्होंने अपनी शुरुआत फेसबुक से की। एक साधारण Facebook page पर उन्होंने दिन की प्रमुख खबरों को सिर्फ 60 शब्दों में लिखकर पोस्ट करना शुरू किया। उनकी संक्षिप्तता, सटीकता और मज़ेदार टोन ने लोगों को तुरंत आकर्षित किया। कुछ ही महीनों में उनके पेज को लाखों लोगों ने फॉलो करना शुरू कर दिया।

लेकिन महत्वाकांक्षा को सिर्फ फेसबुक तक सीमित रखना उनके बस का नहीं था। 2014 में उन्होंने Inshorts ऐप लॉन्च किया। ऐप ने भी उसी तेजी से सफलता का स्वाद चखा। लोगों को मोबाइल पर सरसरी से खबरें पढ़ने का यह अनूठा अनुभव बेहद पसंद आया। ऐसे हुई Inshorts Success Story की शुरुआत।

कितने लोग Inshorts का इस्तेमाल करते हैं

Inshorts भारत का सबसे लोकप्रिय समाचार ऐप है। इसके 50 मिलियन से अधिक monthly active users और  कुल 10 मिलियन से ज्यादा downloads  हैं। इनमें से 80% से अधिक उपयोगकर्ता भारत में हैं। इसके अतिरिक्त, Inshorts की वेबसाइट पर भी लाखों लोग रोजाना आते हैं।

Inshorts Success Story

Inshorts भारत में समाचार उपभोग के तरीके को बदल रहा है। यह दिखा रहा है कि कैसे संक्षिप्तता और सटीकता के साथ समाचारों को पेश किया जा सकता है। इस का उपयोग करने वाले लोगों की आयु 18 से 35 वर्ष के बीच होती है। ये लोग आमतौर पर व्यस्त होते हैं और उनके पास खबरों को पढ़ने के लिए ज्यादा समय नहीं होता है। 

Inshorts उन्हें 60 शब्दों में संक्षिप्त और सटीक जानकारी प्रदान करता है, जो उनके लिए सुविधाजनक है।

Inshorts की सफलता के कारण

Inshorts की सफलता की कुछ प्रमुख वजहें निम्नलिखित हैं:

  1. समय की ज़रूरत को समझना: Inshorts ने लोगों की बढ़ती व्यस्तता और बदलते समाचार उपभोग के तरीके को समझा। उन्होंने समाचारों को 60 शब्दों में प्रस्तुत करके एक ऐसा समाधान दिया जो लोगों के लिए सुविधाजनक और आकर्षक था।
  2. तकनीकी नवाचार: Inshorts ने तकनीक का उपयोग करके समाचारों को प्रस्तुत करने का एक नया तरीका विकसित किया। उन्होंने एक ऐसा ऐप बनाया जो उपयोगकर्ताओं को आसानी से और तेज़ी से समाचार पढ़ने की अनुमति देता है।
  3. एक मजबूत टीम: Inshorts के पास एक मजबूत टीम है जो प्रतिबद्ध और दृढ़ संकल्पित है।
  4. मार्केटिंग और प्रचार: Inshorts ने अपनी सफलता के लिए मार्केटिंग और प्रचार पर भी ध्यान दिया। उन्होंने सोशल मीडिया और अन्य डिजिटल माध्यमों का उपयोग करके अपने ब्रांड को बढ़ावा दिया।

अब कंपनी 3700 करोड़ रुपए की बन चुकी हैं: Inshorts Success Story

Inshorts success story सिर्फ एक तकनीकी और सामाजिक नवाचार की नहीं है, बल्कि एक आर्थिक सफलता की भी कहानी है। कंपनी के तीनों फाउंडर Azhar Iqubal, Deepit Purkayastha और Anunay Arunav की मेहनत और दृढ़ संकल्प के कारण आज Inshorts कंपनी की वैल्यू 3700 करोड़ रुपए से ज्यादा की हो गई है।

Inshorts ने अपनी शुरुआत में ही निवेशकों का ध्यान आकर्षित किया था। 2013 में, कंपनी को अपनी पहली फंडिंग मिली थी। इसके बाद, कंपनी ने कुल 6 राउंड में 119 मिलियन डॉलर की फंडिंग जुटाई है। इनमें से, कंपनी को 2022 में 100 मिलियन डॉलर का फंडिंग राउंड मिला था। यह फंडिंग राउंड कंपनी के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर था, क्योंकि इसने कंपनी की वैल्यू को 1 बिलियन डॉलर से अधिक तक पहुंचा दिया था।

Inshorts की भविष्य की संभावनाएं

Inshorts एक तेजी से बढ़ती हुई कंपनी है। कंपनी का उपयोगकर्ता आधार लगातार बढ़ रहा है, और कंपनी को विदेशों में भी विस्तार करने की योजना है। कंपनी अपने समाचारों की गुणवत्ता में भी सुधार करने पर काम कर रही है।

Inshorts की भविष्य की संभावनाएं काफी उज्ज्वल हैं। कंपनी समाचार उपभोग के तरीके को बदल रही है, और यह दुनिया भर में एक प्रमुख समाचार प्लेटफॉर्म बनने की क्षमता रखती है।

Inshorts Success Story Interview

Conclusion 

Inshorts success story एक प्रेरणा स्टोरी है। यह दिखाता है कि कैसे जुनून, रचनात्मकता और सही रणनीति के साथ कोई भी साधारण विचार एक शानदार सफलता में बदल सकता है। इसकी सफलता भारत में समाचार उपभोग के तरीके को बदल रही है। 

हमें उम्मीद है कि इस आर्टिकल की मदद से आपको Inshorts success storyके बारे में जानकारी मिल गई होगी, अगर आपको इनकी कहानी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। ऐसे आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारे बिजनेस पेज से जुड़े रहें।

FAQs

Q1. इनशॉर्ट्स किस तरह का ऐप है?

Inshorts एक समाचार ऐप है जो 60 शब्दों में समाचार प्रस्तुत करता है। यह ऐप भारत में सबसे लोकप्रिय समाचार ऐपों में से एक है।

Q2. इनशॉर्ट्स राजस्व कैसे उत्पन्न करता है?

इनशॉर्ट्स का मुख्य राजस्व स्रोत विज्ञापन है। ऐप में समाचारों के बीच विज्ञापन दिखाई देते हैं। इसके अतिरिक्त, इनशॉर्ट्स ने हाल ही में एक सदस्यता योजना शुरू की है, जो उपयोगकर्ताओं को विज्ञापन मुक्त अनुभव प्रदान करती है।

Q3. क्या इनशॉर्ट्स केवल भारत के लिए है?

नहीं, इनशॉर्ट्स भारत के अलावा अन्य देशों में भी उपलब्ध है। इनशॉर्ट्स के 10 से अधिक भाषाओं में संस्करण उपलब्ध हैं।

Q4. इनशॉर्ट्स को कौन फंड करता है?

इनशॉर्ट्स को कई निवेशकों ने फंड किया है। इनमें से कुछ प्रमुख निवेशकों में Sequoia Capital, Lightspeed Venture Partners, Google Capital और Accel Partners शामिल हैं।

Q5. इनशॉर्ट्स क्यों प्रसिद्ध है?

इनशॉर्ट्स के प्रसिद्ध होने के कई कारण हैं, जैसे वह नवीन विचार जिसने समाचार देखने का तरीका बदल दिया है।

Leave a Reply