You are currently viewing क्या है ‘प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना’? जल्द ही आवेदन करके उठाएं योजना का लाभ

क्या है ‘प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना’? जल्द ही आवेदन करके उठाएं योजना का लाभ

22 जनवरी राम मंदिर बना प्रतिष्ठा कार्यक्रम के आयोजन के बाद एक बड़ा ऐलान किया गया है। दिल्ली लौटते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना लाने का ऐलान किया है। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार के द्वारा देश भर में लगभग एक करोड़ घरों को रूफटॉप सोलर सिस्टम लगाया जाएगा। इसका फायदा गांव के गरीब लोगों को होगा, जिसके घर में इलेक्ट्रिसिटी बहुत कम आती है या फिर नहीं आती है।

प्रधानमंत्री ने किया ऐलान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर अनाउंसमेंट किया है। उन्होंने अपने पोस्ट में बताया है कि सूर्यवंशी भगवान श्री राम के आलोक से विश्व के सभी भक्तगण सदैव ऊर्जा प्राप्त करते हैं। भगवान राम की कृपा सबके ऊपर बनी रहती है और आज अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा के शुभ अवसर पर मेरा यह संकल्प और प्रशांत हुआ है कि भारतवासियों के घर की छत पर उनका अपना सोलर रूफटॉप सिस्टम लगाया जाएगा।

EC4D7945 7499 438B B7E4 9659017D70F3

अयोध्या से लौट के बाद मेरा पहले यह निर्णय है कि हमारी सरकार एक करोड़ घरों पर रूफटॉप सोलर लगाने के लक्ष्य के साथ प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना को प्रारंभ करेगी। इससे गरीब और मध्यम वर्ग का बिजली बिल तो काम ही होगा साथ ही भारत ऊर्जा क्षेत्र में भी आत्मनिर्भर बनेगा।

आत्मनिर्भर भारत की एक और पहल

इस योजना के तहत भारत सरकार आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के घरों पर रूफटॉप सोलर इंस्टॉल करेगी। ऐसा करने से भारत में रहने वाले मध्यम वर्गीय और गरीब परिवारों को बिजली की जरूरत है पूरी होगी। इसी के साथ-साथ यह एक ऐसा सिस्टम है जिससे यदि बिजली बजती है तो एक्स्ट्रा इलेक्ट्रिसिटी बेचकर कमाई भी की जा सकती है। आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के घरों पर लगाए जाने से उनका बहुत अधिक फायदा होगा। योजना के ऐलान के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैंपेन के जरिए बड़ी संख्या में लोगों को जोड़ने की बात भी कही है।

24C5C559 2FEC 4A0E 9E76 1576BBC7E76B

कैसे काम करती है रूफटॉप सोलर पैनल

रूफटॉप सोलर पैनल घर की छत पर लगाए जाते हैं। घर की चो पर सोलर की प्लेट को सेट किया जाता है। यह प्लेट पैनलों में सेट होती है और यह एक ऐसी तकनीक है जिससे सूर्य की करने को सोकर बिजली ऊर्जा का रूप दिया जाता है। पैनल में फोटो वोल्टेज सेल्स लगे होते हैं जो सौर ऊर्जा को बिजली में तब्दील करते हैं। यह बिजली वही कार्य करती है जो पावर ग्रिड से आई बिजली करती है।

सोलर पैनल लगाने का खर्च

सोलर पैनल को लगाने में लगभग 1 किलो वाट का खर्च 45 से 85 हजार रुपए तक का आता है। इसके अलावा बैटरी का खर्च होता है और इसी तरह 5 किलो वाट का सोलर पैनल लगवाने में ढाई से तीन लाख का खर्च आता है। हालांकि बिजली बिल का खर्च देखे तो 5 से 6 सालों में ही आपके बिजली बिल से इसकी पूरी लागत निकल जाती है। और इसके बाद आपका सोलर पैनल फ्री हो जाता है।

सोलर पैनल सिस्टम लगाने के फायदे

सोलर पैनल सिस्टम लगाने के कई फायदे होते हैं जिससे घर में बिजली प्रोड्यूस की जा सकती है। सोलर पैनल लगाने से 5 से 6 सालों में ही सोलर पैनल का खर्च निकल जाता है। सरकार के द्वारा रूफटॉप स्कीम में 40 फ़ीसदी की सब्सिडी दी जा रही है। फिलहाल केंद्र सरकार सोलर एनर्जी से जुड़ी एक योजना नेशनल रूफटॉप स्कीम चल रही है। इस योजना के अंतर्गत 3 किलोवाट क्षमता के सोलर पैनल को लगवाने पर सरकार की तरफ से 40% तक का सब्सिडी दिया जाएगा। यदि 10 किलोवाट का लगवाते हैं तो सरकार लगभग 20 परसेंट की सब्सिडी देगी। इसके अलावा यदि आप बिजली को बचा पाते हैं तो आपके घरों के आसपास बिजली सप्लाई करके आप मुनाफा भी कमा सकते हैं।

Leave a Reply